moti singh pratapgrah
राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ़ मोती सिंह भारतीय जनता पार्टी से जुड़े हुए एक भारतीय राजनीतिज्ञ हैं! इनका जन्म 20 अक्टूबर 1954 को  प्रतापगढ़ जिले में हुआ। वह लगातार तीन बार विधायक के रूप में प्रतापगढ़ जिले के पट्टी विधानसभा क्षेत्र से चुने गए हैं। सन 2003 में  इन्होने उत्तर प्रदेश राज्य के कृषि मंत्री के रूप में कार्य किया।
इनके पिता का नाम  भरत सिंह गांधी और मां  का नाम कौशल्या देवी था! उन्होंने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से विज्ञान विषयों में स्नातक की  डिग्री (B.Sc.) और इलाहाबाद विश्वविद्यालय से क़ानून (LLB) की शिक्षा ग्रहण की। वस्तुत: वे  पेशे से व्यापारी हैं।
मोती सिंह जी ने  जिला प्रतापगढ़ में अधिकतम वोट हासिल करने का रिकार्ड बनाया है! मंगरौरा से पहली बार ब्लॉक प्रमुख  के रूप में निर्वाचित किये गए! इनका राजनीतिक कैरियर 1983 में शुरू हुआ। 1988 में ये ब्लॉक प्रमुख चुनाव में पुन: निर्वाचित हुए। 1996, 2002 और 2007 के चुनाव जीत कर वो पट्टी विधान सभा क्षेत्र से तीन बार विधायक के रूप में चुने गए! 1990 में  मोती सिंह जी  उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सदस्य रहे!
मोती सिंह जी ने 1989 में कांग्रेस पार्टी से उत्तर प्रदेश विधानसभा से चुनाव लड़ा और असफल रहे! जहां जनता दल के उम्मीदवार राम लखन ने  35.44% मतों के मार्जिन से जीत हासिल की। मोती सिंह जी के अनुसार कुछ तकनीकी समस्या के कारण उनके वोट ठीक से नहीं गिने जा सके जिसके कारण 1989 का चुनाव वो जीत नहीं सके! अभी भी 1989 विधानसभा चुनाव का मामला अदालत में लंबित है!
मोती सिंह जी ने भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर उत्तर प्रदेश पट्टी से एक सीट जीती और 1996 में विधान सभा के सदस्य के रूप में चुने गए। 2002 में वह पुन: इसी  क्षेत्र से विधायक के रूप में चुने गए! 2003 में वे भारतीय जनता पार्टी की ओर से  उत्तर प्रदेश के कृषि राज्य मंत्री के पद पर विराजमान हुए! उत्तर प्रदेश निर्वाचन क्षेत्र में 2007 के विधानसभा चुनाव में फिर से 29.74% वोट हासिल करके विजयी हुए ! 2012 में विधानसभा चुनाव में मात्र  61,278 वोट मिले और इस बार पराजय का मुंह देखना पड़ा!